जाम वो है जो भर के Jaam Woh Hai Jo Bhar Ke Lyrics Hindi – Kumar Sanu

जाम वो है जो भर के Jaam Woh Hai Jo Bhar Ke Lyrics Hindi Kumar Sanu/ Sainik: This song is sung by Kumar Sanu and composed by Nadeem – Shravan while the lyrics are written by Sameer. Starring Akshay Kumar & Ashwini Bhave. Our team is sharing the lyrics of the Jaam Woh Hai Song through this article so that you can remember the lyrics of the song without any errors.

Song Credits:

  • Song: Jam Woh Hai Bharke
  • Movie: Sainik
  • Singer(s): Kumar Sanu
  • Music Director: Nadeem – Shravan
  • Lyricist: Sameer
  • Label: Tips Official

जाम वो है जो भर के Jaam Woh Hai Jo Bhar Ke Lyrics Hindi Kumar Sanu:

जाम वो है जो भर के
छलकता है, छलकता है-x2
प्यार वो है जो आँखों से
झलकता है, झलकता है
जाम वो है जो भर के
छलकता है, छलकता है
प्यार वो है जो आँखों से
झलकता है, झलकता है
जाम वो है जो भर के
छलकता है, छलकता है

लहरों को कभी ना
छुपा पायेगा समंदर-x2
रोशनी कभी छुपेगी ना
शमा के अंदर
रोशनी कभी छुपेगी ना
शमा के अंदर
चेहरा खामोश आओगे में उतर जाएगा
रंग खुशबू का हवाओं में बिखर जाएगा
हो बिखर जाएगा
फूल वो है जो खिल के
महकता है, महकता है
फूल वो है जो खिल के
महकता है, महकता है
प्यार वो है जो आँखों से
झलकता है, झलकता है
जाम वो है जो भर के
छलकता है, छलकता है

प्यार की चाहत की
नई रोशनी दिखाएं –x2
आया हूं दिलों से
मैं तो नफ़रतें मिताने
आया हूं दिलों से
मैं तो नफ़रतें मिताने
सारी दुनिया से तो हम दोस्ती निभाएंगे
प्यार का गीत सारी उमर
गुनगुनायेंगे, हो गुनगुनायेंगे
साज वो है जो नागामोन पे
खनकता है, खनकता है
साज वो है जो नागामोन पे
खनकता है, खनकता है
प्यार वो है जो आँखों से
झलकता है, झलकता है
जाम वो है जो भर के
छलकता है, छलकता है

Read More:

Jaam Woh Hai Jo Bhar Ke Lyrics Sainik:

Jaam woh hai jo bhar ke
Chhalakta hai, chhalakta hai-x2
Pyaar woh hai jo aankhon se
Jhalakta hai, jhalakta hai
Jaam woh hai jo bhar ke
Chhalakta hai, chhalakta hai
Pyaar woh hai jo aankhon se
Jhalakta hai, jhalakta hai
Jaam woh hai jo bhar ke
Chhalakta hai, chhalakta hai

Laharon ko kabhi naa
Chhupa paayega samandar-x2
Roshni kabhi chhupegi na
Shama ke andar
Roshni kabhi chhupegi na
Shama ke andar
Chehra kaamosh aayeene mein utar jaayega
Rang kushbu ka havaaon mein bikhar jaayega
Ho bikhar jaayega
Phool woh hai jo khil ke
Mahakta hai, mahakta hai
Phool woh hai jo khil ke
Mahakta hai, mahakta hai
Pyaar woh hai jo aankhon se
Jhalakta hai, jhalakta hai
Jaam woh hai jo bhar ke
Chhalakta hai, chhalakta hai

Pyaar ki chaahat ki
Nai roshani dikhaane –x2
Aaya hoon dilon se
Main to nafaraten mitaane
Aaya hoon dilon se
Main to nafaraten mitaane
Saari duniya se to ham dosti nibhaayenge
Pyaar ka geet saari umr
Gungunayenge, ho gungunayenge
Saaj woh hai jo nagamon pe
Khanakta hai, khanakta hai
Saaj woh hai jo nagamon pe
Khanakta hai, khanakta hai
Pyaar woh hai jo aankhon se
Jhalakta hai, jhalakta hai
Jaam woh hai jo bhar ke
Chhalakta hai, chhalakta hai

Written by Sameer

error: Content is protected !!