लोग पीते हैं Log Peete Hai Lyrics Hindi – Master Saleem

लोग पीते हैं Log Peete Hai Lyrics Hindi – Master Saleem: This song is sung by Master Saleem and composed by Abhishek Thakur while the lyrics are written by Abhishek Thakur. Starring Pratik Sehajpal & Aditi Budhathoki. Our team is sharing the lyrics of the Log Peete Hain Song through this article so that you can remember the lyrics of the song without any errors.

Song Credits:

  • Song: Log Peete Hai
  • Singer: Master Saleem
  • Lyrics: Abhishek Thakur
  • Music: Abhishek Thakur
  • Label: Kashish Music

लोग पीते हैं Log Peete Hai Lyrics Hindi Master Saleem:

हाँ..!! तेरी यादों की बारिश
रुकती नहीं ज़माने में
आये है तेरी याद मिटाने को
मैखाने पे

लोग पीते हैं-x2
दिल बहलाने के लिए
लोग पीते हैं
दिल बहलाने के लिए
हम पीते हैं
तुझे भूल जाने के लिए
हम पीते हैं
तुझे भूल जाने के लिए

लोग पीते हैं
दिल बहलाने के लिए
हम पीते हैं
तुझे भूल जाने के लिए

यूं तो माहिर है हम
इस ज़माने के लिए-x2
काफ़ी है तेरी नज़र
हमें परेशान करने के लिए
काफ़ी है तेरी नज़र
हमें परेशान करने के लिए
काफ़ी है तेरी नज़र
हमें परेशान करने के लिए

लोग पीते हैं
दिल बहलाने के लिए
हम पीते हैं
तुझे भूल जाने के लिए
हम पीते हैं
तुझे भूल जाने के लिए

पलट के देखा जो
तूने चांद को
शर्मा के वो
बादलों में छुप गया
रोशन ज़मीन फिर भी रही
तेरे हुस्न के आफ़ताब से

तुझमें कैसा नशा नशा है-x2
मेरा दिल क्यों फ़िदा फ़िदा है
नज़र तुम्हारी है इक कयामत
अगर मिटा दिल है इक शर्त

लोग जाते हैं काबा सजदा के लिए-x2
हम बन बैठे काफिर हमसे अदा के लिए
हम बन बैठे काफ़िर
उस अदा के लिए
हम बन बैठे काफ़िर
उस अदा के लिए

लोग पीते हैं
दिल बहलाने के लिए
हम पीते हैं
तुझे भूल जाने के लिए
हम पीते हैं
तुझे भूल जाने के लिए

तेरे दीदार से दिल को
सुकून आता है
परवाना अपनी ख़ुशी
शम्मा पे कुर्बान जाता है
जो तुझको ना देखूं मैं पल दो पल
करार आता नहीं है इक दोस्त
तेरी हंसी है मेरा मुकद्दर
तेरे लिए ही बना मैं दिलबर

हाँ..!! तेरे दीदार को
तरसे ये नज़र
तेरे दीदार को तरसे ये नज़र
इक झलक तो दिखा
मेरे रश्के क़मर
इक झलक तो दिखा
मेरे रश्के क़मर
इक झलक तो दिखा
मेरे रश्के क़मर

लोग पीते हैं
दिल बहलाने के लिए
हम पीते हैं
तुझे भूल जाने के लिए
हम पीते हैं
तुझे भूल जाने के लिए

यूं तो माहिर है हम
इस ज़माने के लिए-x2
काफ़ी है तेरी नज़र
हमें परेशान करने के लिए
काफ़ी है तेरी नज़र
हमें परेशान करने के लिए
काफ़ी है तेरी नज़र
हमें परेशान करने के लिए

लोग पीते हैं
दिल बहलाने के लिए
हम पीते हैं
तुझे भूल जाने के लिए
हम पीते हैं
तुझे भूल जाने के लिए
हम पीते हैं
तुझे भूल जाने के लिए
हम पीते हैं
तुझे भूल जाने के लिए

Read More:

Log Peete Hai Lyrics Master Saleem:

Haan..!! Teri yaadon ki baarish
Rukti nahi zamaane mein
Aaye hai teri yaad mitaane ko
Maikhaane pe

Log peete hai-x2
Dil behlaane ke liye
Log peete hai
Dil behlaane ke liye
Ham peete hai
Tujhe bhool jaane ke liye
Ham peete hai
Tujhe bhool jaane ke liye

Log peete hai
Dil behlaane ke liye
Ham peete hai
Tujhe bhool jaane ke liye

Yun to maaheer hai ham
Is zamaane ke liye-x2
Kaafi hai teri nazar
Hame haraane ke liye
Kaafi hai teri nazar
Hume haraane ke liye
Kaafi hai teri nazar
Hume haraane ke liye

Log peete hai
Dil behlaane ke liye
Ham peete hai
Tujhe bhool jaane ke liye
Hum peete hai
Tujhe bhool jaane ke liye

Palat ke dekha jo
Tune chaand ko
Sharma ke voh
Baadalon mein chhup gaya
Roshan zameen fir bhi rahi
Tere husn ke aaftaab se

Tujhme kaisa nasha nasha hai-x2
Mera dil kyun fidaa fidaa hai
Nazar tumhaari hai ik kayaamat
Agar mita dil hai ik sharaarat

Log jaate hai kaabaa sazdaa ke liye-x2
Hum ban baithe kaafir us ada ke liye
Hum ban baithe kaafir
Us ada ke liye
Hum ban baithe kaafir
Us ada ke liye

Log peete hai
Dil behlaane ke liye
Ham peete hai
Tujhe bhool jaane ke liye
Hum peete hai
Tujhe bhool jaane ke liye

Tere deedaar se dil ko
Sukoon aata hai
Parwaana apni khushi
Shamma pe kurbaan jaata hai
Jo tujhko na dekhun main pal do pal
Karaar aata nahi hai ik pal
Teri hasi hai mera mukaddar
Tere liye hi banaa main dilbar

Haan..!! Tere deedaar ko
Tarse ye nazar
Tere deedaar ko tarse ye nazar
Ik jhalak to dikha
Mere rashke qamar
Ik jhalak to dikha
Mere rashke qamar
Ik jhalak to dikha
Mere rashke qamar

Log peete hai
Dil behlaane ke liye
Ham peete hai
Tujhe bhool jaane ke liye
Hum peete hai
Tujhe bhool jaane ke liye

Yun to maahir hai ham
Is zamaane ke liye-x2
Kaafi hai teri nazar
Hume haraane ke liye
Kaafi hai teri nazar
Hame haraane ke liye
Kaafi hai teri nazar
Hame haraane ke liye

Log peete hai
Dil behlaane ke liye
Ham peete hai
Tujhe bhool jaane ke liye
Hum peete hai
Tujhe bhool jaane ke liye
Ham peete hai
Tujhe bhool jaane ke liye
Ham peete hain
Tujhe bhool jaane ke liye

Written by Abhishek Thakur

error: Content is protected !!