अश्कों से Ashkon Se (Title Track) Lyrics in Hindi – Saaj Bhatt

अश्कों से Ashkon Se (Title Track) Lyrics in Hindi – Saaj Bhatt: This song is sung by Saaj Bhatt and composed by Shabbir Ahmed while the lyrics are written by Shabbir Ahmed. Starring Saaj Bhatt. Our team is sharing the lyrics of the Ashkonn Se Song through this article so that you can remember the lyrics of the song without any errors.

Song Credits:

  • Song: Ashkonn Se
  • Album: Ashkonn Se
  • Singer: Saaj Bhatt
  • Music & Lyrics: Shabbir Ahmed
  • Label: Himesh Reshammiya Melodies

अश्कों से Ashkon Se (Title Track) Lyrics in Hindi – Saaj Bhatt:

पालके अश्कों से है भारी फिर भी
हम तो होटो से मुस्कुराते हैं-x2
दर्द दिल में छुपाएं रखते हैं
हम किसी को नहीं बताते हैं
भारी महफिल में हम
तन्हा रहते है
हां समझाऊ दिल को कैसे
ज़ख़्म कितने मिले मोहब्बत में
हम किसी को नहीं दिखाते हैं
दर्द दिल में छुपाएं रखते हैं
हम किसी को नहीं बताते हैं

तोड़ दिया दिल मेरा
क्या तुम्हारी चाह है-x2
फिर भी मेरे होटो पे कोई ना शिकायत है
यादें वफाओं के दिल में लिए कोई
मेरी तरफ ऐसे हंस के जीये कोई
कितने कांटे बिछे है राहों में
ये कदम फिर भी चलते जाते हैं
दर्द दिल में छुपाएं रखते हैं
हम किसी को नहीं बताते हैं

वादे वफ़ा चाहत के
झूठे सब भरम तेरे-x2
फिर ना यार चेहरे पे
कोई ना सीकन मेरे
दर्द तो दिल के भी चुपके सहते है
हम तो अकेले में तन्हा रहते हैं
कोई किशवा नहीं किसी से भी
हम तो खामोश जीये जाते हैं
दर्द दिल में छुपाएं रखते हैं
हम किसी को नहीं बताते हैं

Read More:

Ashkon Se (Title Track) Lyrics Shabbir Ahmed:

Palke ashkon se hai bhari phir bhi
Hum to hotho se muskurate hai-x2
Dard dil mein chhupayein rakhte hai
Hum kisi ko nahi batatein hai
Bhari mehfil mein hum
Tanha rehate hai
Haan samjhau dil ko kaise
Zakham kitne mile mohobbat mein
Hum kisi ko nahi dikhate hai
Dard dil mein chhupayein rakhte hai
Hum kisi ko nahi batatein hai

Tod diya dil mera
Kya tumhari chaahat hai-x2
Phir bhi mere hotho pe koi na shikayat hai
Yaadein wafao ki dil mein liye koi
Meri taraf aise hans ke jiye koi
Kitne kaante bichhe hai raahon mein
Ye kadam phir bhi chalte jaate hai
Dard dil mein chhupayein rakhte hai
Hum kisi ko nahi batatein hai

Wade wafa chaahat ke
Jhoote sab bharm tere-x2
Phir naa yaar chehare pe
Koi naa sikan mere
Dard to dil ke bhi chupke sehate hai
Hum to akele mein tanha rehate hai
Koi kishwa nahi kisi se bhi
Hum to khamosh jiye jaate hai
Dard dil mein chhupayein rakhte hai
Hum kisi ko nahi batatein hai

error: Content is protected !!