आते रहते हैं Tere Jaise Log To Aate Rehte Hai Lyrics Hindi – B Praak

आते रहते हैं Tere Jaise Log To Aate Rehte Hai Lyrics Hindi B Praak / Zohrajabeen: This song is sung by B Praak and composed by Jaani while the lyrics are written by Jaani. Starring B Praak. Our team is sharing the lyrics of the Tere Jaise Log To Aate Rehte Hain Song through this article so that you can remember the lyrics of the song without any errors.

Song Credits:

  • Song: Tere Jaise Log To Aate Rehte Hai
  • Album: Zohrajabeen
  • Singer :B Praak
  • Lyricist: Jaani
  • Music: Jaani
  • Label – Desi Melodies

आते रहते हैं Tere Jaise Log To Aate Rehte Hai Lyrics Hindi – B Praak:

कोई ग़म नहीं था वैसे
उसकी जुदाई का-x2
पर ये क्या बोला उसने
पछताते रहते हैं

अरे उसने हमको छोड़ा
है ये बात कहके-x2
के तेरे जैसे लोग तो आते रहते हैं

हम मरेंगे जल्दी जल्दी
पर किश्तों किश्तों में
अब इतनी ज्यादा चलती है
अपनी फरिश्तों में
अब इतनी ज्यादा चलती है
अपनी फरिश्तों में

हो अपना तो हर दिन मरना
सो अपनी अर्थी को
फरिश्ते हर दूजे दिन
उठाते रहते हैं

अरे उसने हमको छोड़ा
है ये बात कहके
के तेरे जैसे लोग आते रहते हैं

अरे उसने हमको छोड़ा
है ये बात कहके
के तेरे जैसे लोग तो आते रहते हैं

जिस पेड़ ने तुमको छाँव दी
वो जड़ें कटा बेथे
हम उड़ रहे थे आसमान में
पर कटा बेठे

तेरी तसवीरें जलाने के
चक्कर में जानेजान
हम ऐसे आशिक तेरे
अपना घर जला बैठे
हो अपना घर जला बैठे

हो अब इतनी नफ़रत है हमको
हए तेरे चेहरे से
के तेरी तसवीरों को
ज़हर खिलाते रहते हैं

अरे उसने हमको छोड़ा
है ये बात कहके
के तेरे जैसे लोग तो आते रहते हैं

अरे उसने हमको छोड़ा
है ये बात कहके
के तेरे जैसे लोग तो आते रहते हैं

सारी रात रोते रहते हैं
रुलाते रहते हैं
हो सारी रात रोते रहते हैं
रुलाते रहते हैं
धक्के लिखे हैं कर्मो में
सो खाते रहते हैं

ना कोई हसाने वाला
ना नचाने वाला हमको
तो खुद का हाथ पकड़ के
खुद को नचाने रहते हैं

हम इतने पागल हो गए
तेरे जाने के बाद
के बुझे हुए दियों को
बुझाते रहते हैं

अरे उसने हमको छोड़ा है ये बात कहके
के तेरे जैसे लोग जानी आते रहते हैं

Read More:

Tere Jaise Log To Aate Rehte Hai Lyrics Zohrajabeen:

Koi gham nahi tha waise
Uski judaai ka-x2
Par ye kya bola usne
Pachhtate rehte hain

Are usne humko chhoda
Hai ye baat kehke-x2
Ke tere jaise log to aate rehte hai

Hum marenge jaldi jaldi
Par kishton kishton mein
Ab itni zyada chalti hai
Apni farishton mein
Ab itni zyada chalti hai
Apni farishton mein

Ho apna to har din marna
So apni arthi ko
Farishte har dooje din
Utha te rehte hain

Are usne humko chhoda
Hai ye baat kehke
Ke tere jaise log to aate rehte hai

Are usne humko chhoda
Hai ye baat kehke
Ke tere jaise log to aate rehte hai

Jis pedh ne tumko chhaon di
Wo jadein kata bethe
Hum udd rahe the aasman mein
Par kataa bethe

Teri tasveeren jalane ke
Chakkar me jaanejan
Hum aise aashiq tere
Apna ghar jala bethe
Ho apna ghar jala bethe

Ho ab itni nafrat hai humko
Haye tere chehre se
Ke teri tasveeron ko
Zaher khilate rehte hain

Aree usne humko chhoda
Hai ye baat kehke
Ke tere jaise log to aate rehte hai

Aree usne humko chhoda
Hai ye baat kehke
Ke tere jaise log to aate rehte hai

Saari raat rote rehte hai
Rulaate rehtein hai
Ho saari raat rote rehte hai
Rulaate rehte hain
Dhakke likhe hain karmo mein
So khaate rahte hai

Na koi hasaane wala
Na nachaane wala humko
To khud ka haath pakadke
Khud ko nachate rehte hai

Hum inte pagal ho gaye
Tere janeke baad
Ke bhujhe huye diyon ko
Bhujhate rahate hai
Are usne humko chhoda hai ye baat kehke
Ke tere jaise log jaani aate rehte hai

Written by Jaani

error: Content is protected !!